9599388972 / 3 / 4 / 5


शेख मुजीबुर्रहमान के जीवन पर मिलकर फ़िल्म बनाएंगे भारत-बांग्लादेश

भौगोलिक सीमाओं में अलग होने के बावजूद भारत और बांग्लादेश सांस्कृतिक, ऐतिहासिक और सामाजिक क्षेत्र में बहुत कुछ साझा करते रहे हैं. दोनों देशों के बीच सदियों से चले आ रहे सामाजिक-आर्थिक संबंधों की मजबूती आज भी बरकरार है. शेख मुजीबुर रहमान की अगुवाई में बांग्लादेश की आजादी की लड़ाई में भारत ने अहम भूमिका निभाई. बंगबंधु के रूप में जाने जाने वाले शेख मुजीबुर रहमान को बांग्लादेशी राष्ट्रपिता कहते हैं. इस महान हस्ती को श्रद्धांजलि देने के लिए भारत और बांग्लादेश के बीच शेख मुजीबुर रहमान के जीवन पर आधारित फ़िल्म और बांग्लादेश की आज़ादी पर डॉक्युमेंट्री के निर्माण के लिए सहमति बनी है. फिल्म की जिम्मेदारी अनुभवी फिल्म निर्माता श्याम बेनेगल और उनके लंबे समय के सहयोगी अतुल तिवारी के कंधों पर है, जो फिल्म की स्क्रिप्ट लिख रहे हैं. तत्कालीन बंगाल 1905 में पूर्व और पश्चिम बंगाल में विभाजित हो गया था और पूर्वी बंगाल बाद में 1971 के बाद का आधुनिक बंगलादेश बन गया. प्रसिद्ध वैज्ञानिक जेसी बोस और प्रसिद्ध फिल्म निर्माता सत्यजीत रे वे प्रसिद्ध हस्तियां हैं जिनका अविभाजित भारत में बंगाल में जन्म हुआ था. भले ही पिछली सदी में भौगोलिक सीमाएं खींची गईं, लेकिन दोनों देशों के लोग अभी भी बंगाल के प्रसिद्ध स्थानों और दोनों ओर की प्रसिद्ध हस्तियों को याद करते हैं और आपसी सामाजिक संबंधों के बारे रूचि रखते हैं.