9599388972 / 3 / 4 / 5


सामान्य अध्ययन

अवधि: 8 महीने

फीस – 49,500/-

पंजीकरण – 10,000/-

 

एक सामान्य स्नातक के अपेक्षित ज्ञान का स्तर और सिविल सेवा के सामान्य अध्ययन का पाठ्यक्रम लगभग सामान हैं द्य पर यह पाठ्यक्रम एक विशेष तैयारी की मांग करता है जो कि सही रणनीति के साथ कम से कम एक साल की जानी चाहिए द्य तत्पश्चात सफलता इस बात पर निर्भर करती है की पाठ्यक्रम आधारित उस तैयारी को हम समसामयिकी से कैसे अलंकृत करते हैं

हमारे सामान्य अध्ययन बैच का उद्देश्य सामान्य अध्ययन में अभ्यर्थी की अभिरुचि का विकास करना है द्य यह अभिरुचि अभ्यर्थी में यह विश्वास पैदा करती है कि वह प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा में प्रश्नों के उत्तर देने में सक्षम है

प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा में सामान्य अध्ययन का प्रभुत्व है द्य प्रारंभिक परीक्षा का पाठ्यक्रम मुख्य परीक्षा के पाठ्यक्रम का एक अंश भी है द्य ऐसे में हमारा यह कोर्स एक समग्र दृष्टिकोण अपनाता है द्य सामान्य अध्ययन के अंतर्गत आने वाले हर विषय और मुद्दे एक दुसरे से जुड़े हुए हैं द्य हमारी अध्यापन शैली कुछ ऐसी है कि अभ्यर्थी इस अंतर्सम्बध्ती को समझने में क्षमतावान हो जाता है

समसामयिकी घटनाएं सामान्य अध्ययन पाठ्यक्रम का अटूट हिस्सा बन चुकी हैं द्य इसके लिए अभ्यर्थी को समसामयिकी पर विशेष कक्षाएं और अध्ययन सामग्री उपलब्ध करायी जाती हैं द्य अभ्यर्थियों की तैयारी का स्तर परखने के लिए हम नियमित टेस्ट का आयोजन करते हैं और उस पर नियमित प्रतिक्रिया भी देते हैं 

अंततः हम यह कह सकते हैं कि एक अभ्यर्थी की सफलता ही हमारा मूल उद्देश्य है और इसके लिए हम अपना सर्वश्रेष्ठ देते हैं

सामान्य अध्ययन (प्रारंभिक व मुख्य परीक्षा) में विभिन्न खंडों की कक्षाएं

इतिहास

विश्व इतिहास (प्रारंभिक ) 18 कक्षाएं
आधुनिक भारत (प्रारंभिक ) 18 कक्षाएं
प्राचीन और मध्यकालीन इतिहास (प्रारंभिक ) 18 कक्षाएं
कला और संस्कृति (प्रारंभिक + मुख्य) 10 कक्षाएं
कुल 64 कक्षाएं

भूगोल

विश्व भूगोल (प्रारंभिक ) 20 कक्षाएं
भारत का भूगोल (प्रारंभिक ) 20 कक्षाएं
आपदा प्रबंध (प्रारंभिक ) 10 कक्षाएं
पर्यावरण पारिस्थिति और जैव विविध्ता (प्रारंभिक + मुख्य) 15 कक्षाएं
कुल 65 कक्षाएं

संविधन, राजव्यवस्था, शासन और अंतरराष्ट्रीय संबंध्

भारतीय समाज और संबंध्ति मुद्दे 15 कक्षाएं
संविधन और राजव्यवस्था (प्रारंभिक ) 30 कक्षाएं
शासन (प्रारंभिक ) 15 कक्षाएं
अंतर्राष्ट्रीय (प्रारंभिक) 20 कक्षाएं
कुल 80 कक्षाएं

भारतीय अर्थव्यवस्था

मूल संकल्पना (प्रारंभिक ) 15 कक्षाएं
पाठ्यक्रम 25 कक्षाएं
कुल 40 कक्षाएं

सामान्य विज्ञान, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी

सामान्य विज्ञान (प्रारंभिक ) 15 कक्षाएं
विज्ञान एवं प्रद्यौगिकी (प्रारंभिक ) 20 कक्षाएं
कुल 35 कक्षाएं
सामाजिक न्याय (प्रारंभिक ) 10 कक्षाएं
आंतरिक सुरक्षा (प्रारंभिक ) 10 कक्षाएं
नैतिकता, सत्यनिष्ठा और अभिरुचि 30 कक्षाएं
कुल 50 कक्षाएं

समसमायिकी मुद्दे

प्रारंभिक 15 कक्षाएं
मुख्य 20 कक्षाएं
कुल कक्षाएं 369 कक्षाएं

 

नोट :

ऊपर दी गई कक्षा संख्याऐ अनुमानित है, पूर्णतः निश्चित नहीं। कक्षाएं ऊपर दिए गए क्रमानुसार नहीं चलाई जाएगी, इनके कालाक्रम में परिवर्तन किए जा सकते हैं। अनुमानित कक्षाएं 2 घंटे के अनुसार हैं, आवश्यकता पड़ने पर इनके अवधि् में वृ( किया जा सकता है। उपरोत्तफ कक्षाओ के साथ नियमित जांच परीक्षा भी चलाई जाएगी। कार्यक्रम उपरोत्तफ आधर पर चलाई जाएगीं, अतः पाठ्यक्रम की सीमा अवधि् जो कि 1 वर्ष का है, में कुछ परिवर्तन हो सकता है।